चोट/जख्म/आघात पर दोहे

पर अवगुण देखे सदा , दिखी न खुद में खोट। अक्सर करते हैं यहाँ , अपने दिल पर चोट।। जिसको निज नेता चुना , देकर अपना वोट। सरेआम वह द...